Republic Day Essay in Hindi - ( 26 जनवरी ) गणतंत्र दिवस पर निबंध

republic-day-essay-in-hindi

नमस्कार दोस्तों ! आप सभी का republic day essay in hindi के इस आर्टिकल में आपका हार्दिक स्वागत करते है। republic day को ganatantra divas के नाम से भी जाना जाता है इसी लिए आप इस पोस्ट को भारत के गणतंत्र दिवस पर भाषण के रूप में भी इस्तेमाल कर सकते हो और साथ ही में हम यह भी जानेंगे की गणतंत्र दिवस का महत्त्व क्या है और क्यों मनाया जाता है। 

26 जनवरी भारत के प्रमुख त्योहारों में से एक है और इसी लिए 26 जनवरी को राष्ट्रीय त्यौहार भी घोषित किया गया है। 26 जनवरी के अलावा स्वतंत्रता दिवस और गाँधी जयंती अन्य दो राष्ट्रीय त्यौहार है। ganatantra divas पूरा भारत बहुत ही शान से मनाता है और इसका जश्न देखते ही बनता है। तो चलिए अब essay on republic day in hindi शुरू करते है और गणतंत्र दिवस के बारे में विस्तार से जानते है। 

Republic Day Essay in Hindi | गणतंत्र दिवस पर निबंध 

गणतंत्र दिवस भारत के 3 प्रमुख राष्ट्रिय त्योहारों में से एक है जो हर साल 26 जनवरी के दिन मनाया जाता है। भारत को तकरीबन दो शताब्दी तक अंग्रेजो की गुलामी की जंजीरो ने बांध रखा था और इसी गुलामी से 15 अगस्त, 1947 से हमें मुक्ति मिली थी। जी हा 15 अगस्त को हमे आजादी मिली थी और इस आजादी के बाद भारत को पूर्ण मुक्त देश की तरह आगे बढ़ने के लिए और स्वंतत्र गणराज्य बनने के लिए संविधान बहुत ही जरुरी था। 

26 नवम्बर, 1949 को भारतीय  संविधान सभा ने इस संविधान का स्वीकार किया था और 26 जनवरी 1950 को यह संविधान लोकतांत्रिक प्रक्रिया की तहत लागु किया गया था। इस रूप से गणतंत्र दिवस का हमारे जीवन में बहुत महत्त्व है। अगर संविधान न होता तो हम आज़ाद होकर भी सही दिशा में बढ़ नहीं पाते और नाही हमें आगे बढ़ने के इतने अवसर मिल पाते। 

संविधान सभा के प्रमुख सदस्यों में से एक थे डॉ भीमराव आंबेडकर। आंबेडकरजी के साथ साथ और महत्वपूर्ण सदस्य थे पंडित जवाहरलाल नेहरू, सरदार वल्लभभाई पटेल, डॉ राजेंद्र प्रसाद और मौलाना अबुल कलाम आज़ाद। 

संविधान सभा के सदस्यों ने संविधान बनाते समय इस बात का खास ध्यान रखा के भारत के सभी समुदाय को इससे मदद भी मिले और भारत की संस्कृति, एकता और अखंडितता का भी जतन हो। इसी संविधान के चलते आज भारत विविधता में एकता को वहन करता विश्व की सबसे प्रमुख लोकशाही है। संविधान बनाने वालो को शत शत नमन। 

यही संविधान को 26 जनवरी, 1950 के दिन लागु किया गया और हमे पूर्ण गणराज्य का बहुमान भी मिला। इसी लिए गणतंत्र दिवस बड़ी ही धामधूम से मनाया जाता है। पूरा भारत देश इस राष्ट्रिय जश्न को बड़े ही उत्साह से मनाता है। पुरे विश्व में जहाँ एक भारतीय भी निवास करता है वह जगह पर 26 जनवरी मनाया जाता है। 

26 जनवरी का दिन हमारे मन में देशभक्ति की भावना जाग्रत कर देता है। देश अपनी उपलब्धिया याद करता  है तो विश्व में हमारे देश का दिन प्रतिदिन बढ़ रहे कद को हमे गर्वान्वित महसूस करता है। छोटे बच्चे से लेकर बड़े लोगो तक सभी पर देशभक्ति का भूत सवार रहता है। भारत भर मर इसका जश्न मनता है तो स्कूलों में ध्वजवंदन और देशभक्ति कार्यक्रम रखे जाते है। 

देश की राजधानी दिल्ली में तो इसका जश्न देखते ही बनता है। राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री भी इस जश्न का हिस्सा बनते है और दिल्ली के लालकिले से राष्ट्रध्वज को सलामी दी जाती है। इण्डिया गेट पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी जाती है और देश के सभी प्रदेशो की सांस्कृतिक झांकिया प्रस्तुत की जाती है। भारतीय सेना भी अपना शक्ति प्रदर्शन करती है और देश के नागरिको को सलामति और सुरक्षा की मूक विश्वास दिलाती है। वाकहीमें गणतंत्र दिवस का जश्न देखने से ही बनता है। 

भारत को विश्व गुरु बनाने में हमे भी अपना योगदान देना होगा और देश को आगे बढ़ने में मददरूप होना होगा क्यों की सब आगे बढ़ेंगे तो हि देश आगे बढ़ेगा। किसी भी तबके को पीछे छोड़कर कोई भी देश आगे नहीं बढ़ सकता। तो आज हम भी प्रण लेते है की देश को स्वच्छ रखने में और उसे आगे बढ़ने में हम भी अपना योगदान देंगे। 

आप सभी को एकबार फिर से गणतंत्र दिवस की बहुत सी शुभकामनाए। आशा रखते है की republic day essay in hindi आपको पसंद आया होगा और इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक, गूगल प्लस और व्हाट्सएप के ज़रिए शेयर करना नहीं भूले। जय हिंद !!

Related search Term for this article: 26 january essay in hindi, republic day in hindi


Add Your Comments

Disqus Comments